Untitled Document
Untitled Document
आमुख परिचय उदेश्य सहयोग गतिविधिया सुझाव संपर्क
 
 
Untitled Document
सहयोगी संस्था
ब्रह्मराज विश्वगुरुकुल
भारतीय स्वाभिमान मंच
अन्तर्राष्ट्रीय कामधेनु अहिंसा विश्वविद्यालय
विश्व महिला परिवार
भारतीय महिला परिवार
महिला कुटुम्ब
भारतीय किसान परिवार
विश्व कामधेनु परिवार
अखिल भारतीय त्रिलोक त्यागी शिक्षण एवं जनकल्याण संस्थान
समष्टियोग महापरिवार
विश्व सरकार जनमंच
विश्व मीडिया परिवार
भारतीय पत्राकार परिवार
भारतीय शिक्षक परिवार
भारतीय सपेरा परिवार
कामधेनु चैनल
कामधेनु
विश्व मित्र परिवार
वसुधैव कुटुम्बकम के सिद्धांतों पर आधारित विश्व मित्र परिवार मानव सेवा मे समर्पित एक समाजसेवी संस्था है। जिसका दृढ़ संकल्प है साधन विहीन बच्चों को शिक्षा तथा सम्मानपूर्वक जीवन का अधिकार दिलाना। पीडि़त बच्चों एवं महिलाओं के सशकितकरण हेतु उन्हें स्वयं स्वावलम्बी बनाने का प्रयास करना ताकि वे आर्थिक रूप से स्वतन्त्र होकर सम्मान पूर्वक जीवन यापन कर सकें। इसका मुख्य उददेश्य मानवीय मूल्यों पर आधारित विश्व में उच्च आदर्श स्थापित करना है। आम लोगों को स्वयं से पहल करने के लिये प्रेरित करना जिससे कि वे अपनी समस्याओं के निवारण के लिए स्वयं प्रभावशाली कदम उठा सकें। हमारा निरंतर यही प्रयास होगा कि हम समाज के पिछडे़ हुए और अभाव से ग्रस्त लोगों को इतनी सहायता दे सकें कि वह स्वयं अपने पैरों पर खडे़ हो सकें और अपने तथा अपने परिवार का ठीक ढंग से पालन पोषण कर सकें। जो बच्चे अभाव वश शिक्षा से वंचित रह जाते हैं उनको शिक्षित बनाने के लिए यह संस्था वचनबद्ध है। इससे जुड़े हुए लोग बिना किसी मोह या लालच के समाज सेवा के लिए सदा तत्पर रहते हैं। पिछले 15 वर्षो से यह संस्था अपने लक्ष्य को साधने में पूरी तल्लीनता से जुटी हुर्इ है और धीरे धीरे अपने आधार को व्यापक एवं मजबूत करती जा रही है।
Untitled Document
 Registration Form
समाचार

भारतीय वैज्ञानिक संस्कृति, सभ्यता विकास, प्रकृति, पर्यावरण, जीव दया, अहिंसा, कला, साहित्य, लोक कला-साहित्य, दूरदर्शन ;टी.वी. चैनल, पत्राकारिता, प्रकाशन, चिकित्सा, शिक्षा, प्रशिक्षण, संचार, सूचना, राष्ट्र भाषा संवधर््न, गौरक्षा, गौसंवधर््न, कृषि, कृषक, ग्रामीण प्रतिभा, बाल प्रतिभा, महिला प्रतिभा, विलक्षण प्रतिभा, योग विज्ञान, ज्योतिष एवं अन्य भारतीय विद्याएं, भारतीय गणित, ज्ञान-विज्ञान, न्याय एवं विधिक, उद्योग व्यापार, उद्यमी, पिछड़े अति पिछड़े, आदिवासी क्षेत्रों में निर्माण एवं विकास कार्य, राजभाषा एवं लोककला प्राचीन विज्ञान ;हमारे प्राचीन शास्त्रों एवं ग्रंथों में छिपा विज्ञानद्ध मन्त्रा चिकित्सा-विज्ञान, नाड़ी विज्ञान जैसी अन्य किसी भी विद्या पर विशेष शोध् एवं अनुसंधन करने वाली प्रतिभाओं को - बाल प्रतिभा रत्न, स्त्राी गौरव, महिला रत्न, कृषि रत्न, कृषि गौरव एवं अन्य रत्न दिये जायेंगे।
 
Designed and Developed by : Netcrawl